Trending

बिहार: 9 बच्चों को कार से कुचलने वाला बीजेपी नेता नेपाल भागने की फिराक में?

Bihar BJP leader who crushed 9 children by car, is about to flee to Nepal Samastipur Now
0 35
Above Post Campaign

Bihar के Muzaffarpur में नशे में धुत्त होकर अपनी कार से नौ बच्चों को कुलचने का आरोपी BJP Leader मनोज बैठा भारत-नेपाल सीमा के पास कहीं छुपा बैठा है. पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी दी है.

बैठा को पकड़ने के लिए सिटी एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा के नेतृत्व में एक एसआईटी भी गठित की गई. वहीं Muzaffarpur के एसएसपी विवेक कुमार ने न्यूज़ 18 से बातचीत में कहा कि BJP Leader को 48 घंटों के अंदर गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

बता दें कि राजधानी Patna से सटे Muzaffarpur के बाहरी इलाके में Saturday को एक तेज रफ्तार Bolero ने Government School के बाहर करीब 30 बच्चों को कुचल दिया था. इस घटना में नौ बच्चों की मौत हो गई, जबकि 20 बच्चों घायल हुए थे.

हालांकि मनोज के पिता नारायण बैठा ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि घटना वाले दिन कार ड्राइवर लेकर गया था और उन्हें नहीं पता कि वह इसे कहा लेकर गया और उसके बाद क्या हुआ.

Middle Post Banner 1
Middle Post Banner 2

इस मामले में आरोपी मनोज बैठा को बीजेपी ने सोमवार को पार्टी से सस्पेंड कर दिया. बीजेपी की बिहार इकाई के उपाध्यक्ष देवेश कुमार कहते हैं, ‘Sitamarhi से जिला स्तरीय कार्यकर्ता मनोज बैठा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है.’ वहीं जब पूछा गया कि बैठा की गाड़ी में लगे बैनर में उनका पद महादलित प्रकोष्ठ का राज्य महासचिव लिखा था, तो कुमार कहते हैं, ‘संगठन में ऐसा कोई पद ही नहीं. ऐसा प्रतीत होता है कि उन्होंने खुद यह पद गढ़ लिया.’

वहीं इस मामले को लेकर Bihar की विपक्षी RJD Nitish सरकार पर लगातार हमलावर है और मंगलवार को यह मुद्दा विधानसभा में उठा. राज्य के Former Deputy Chief Minister Tejashwi Prasad Yadav ने आरोप लगाया कि मनोज बैठा की गिरफ्तारी राज्य सरकार के संरक्षण के चलते अभी तक नहीं हुई है.

Tejashwi Yadav ने राज्य में शराबबंदी को बस दिखावा करार देते हुए ट्वीट कर Chief Minister से पूछा, Nitish Kumar Ji, क्या शराबबंदी में अमीरों को होम डिलीवरी करवाना और बच्चों के भाजपाई हत्यारे को बचाना ही आपका राजधर्म है?’ उन्होंने पूछा कि क्या शराबबंदी में अब तक करीब 1.30 लाख गरीबों को जेल भेजना ही सुशासन है.

तेजस्वी ने आरोप लगाया कि Chief Minister Nitish Kumar और Deputy Chief Minister Sushil Modi के सीधे संरक्षण के चलते अभी तक गिरफ़्तारी नहीं हो सकी है. उन्होंने पूछा कि क्या मुख्यमंत्री का नैतिक और मानवीय दायित्व नहीं बनता कि वह एक बार पीड़ितों से जाकर मिले.

उधर, Deputy Chief Minister Sushil Modi ने भी कहा कि चाहे किसी भी दल से जुड़ा कोई भी व्यक्ति हो, पुलिस को आरोपी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है.

Below Post Banner
After Tags Post Banner 1
After Tags Post Banner 2
After Related Post Banner 3
After Related Post Banner 1
After Related Post Banner 2

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Close